FRENZ 4 EVER

Shayari, FREE cards, Masti Unlimited, Fun, Jokes, Sms & Much More...

Frenz 4 Ever - Masti Unlimited

Hi Guest, Welcome to Frenz 4 Ever

Birthday Wishes : Many Many Happy Return Of The Day : ~ Harini, Mim2007, Mishra808, Simply_deepali.
Thought of The Day: "Be wise enough to walk away from the nonsense around you."

A poem by prasoon joshi

Share
avatar
Guest
Guest

A poem by prasoon joshi

Post by Guest on Sat Apr 24, 2010 3:51 pm


"इस बार नहीं... " --- प्रसून जोशी

इस बार नहीं
इस बार जब वो छोटी सी बच्ची मेरे पास अपनी खरोंच ले कर आएगी
मैं उसे फू फू कर नहीं बहलाऊँगा
पनपने दूँगा उसकी टीस को
इस बार नहीं
इस बार जब मैं चेहरों पर दर्द लिखा देखूँगा
नहीं गाऊंगा गीत पीड़ा भुला देने वाले
दर्द को रिसने दूँगा ,उतरने दूँगा अन्दर गहरे
इस बार नहीं
इस बार मैं न मरहम लगाऊँगा
न ही उठाऊँगा रुई के फाहे
और न ही कहूँगा की तुम आँखें बंद करलो ,गर्दन उधर कर लो मैं दवा लगता हूँ
देखने दूँगा सबको हम सबको खुले नंगे घाव
इस बार नहीं
इस बार जब उलझने देखूँगा ,छटपटाहट देखूँगा
नहीं दौडूंगा उलझी ड़ोर लपेटने
उलझने दूँगा जब तक उलझ सके
इस बार नहीं
इस बार कर्म का हवाला दे कर नहीं उठाऊँगा औजार
नहीं करूंगा फिर से एक नयी शुरुआत
नहीं बनूँगा मिसाल एक कर्मयोगी की
नहीं आने दूँगा ज़िन्दगी को आसानी से पटरी पर
उतारने दूँगा उसे कीचड मैं ,टेढे मेढे रास्तों पे
नहीं सूखने दूँगा दीवारों पर लगा खून
हल्का नहीं पड़ने दूँगा उसका रंग
इस बार नहीं बनने दूँगा उसे इतना लाचार
कि पान की पीक और खून का फर्क ही ख़त्म हो जाए
इस बार नहीं
इस बार घावों को देखना है
गौर से
थोड़ा लंबे वक्त तक
कुछ फैसले
और उसके बाद हौसले
कहीं तोह शुरुआत करनी ही होगी
इस बार यही तय किया है

avatar
Admin
Administrator
Administrator

Member is :
Online
Offline


Male

Virgo Monkey

Posts : 1633
Humor : Naughty

KARMA : 51
Reward : 152

Re: A poem by prasoon joshi

Post by Admin on Tue Apr 27, 2010 12:20 am

dat was quiet touchy


_________________________
avatar
Guest
Guest

Re: A poem by prasoon joshi

Post by Guest on Tue Apr 27, 2010 1:31 pm

ha nilu dear poet ki ye thought itni asani se koi nahi samajh sakta kitni gahri baat ko shabdo me dhala hai prasoon ji ne
avatar
Daisy
Grafik Moderator
Grafik Moderator

Member is :
Online
Offline


Female

Virgo Cat

Posts : 3566
I Live

Job/hobbies : Like music
KARMA : 167
Reward : 744

Mood : springy

Re: A poem by prasoon joshi

Post by Daisy on Tue Apr 27, 2010 2:23 pm

beautiful lines tanvi dear.. flowers


_________________________
avatar
Guest
Guest

Re: A poem by prasoon joshi

Post by Guest on Wed Apr 28, 2010 8:55 pm

thanku daisy ji
avatar
Admin
Administrator
Administrator

Member is :
Online
Offline


Male

Virgo Monkey

Posts : 1633
Humor : Naughty

KARMA : 51
Reward : 152

Re: A poem by prasoon joshi

Post by Admin on Wed Apr 28, 2010 11:25 pm

Tanvi wrote:ha nilu dear poet ki ye thought itni asani se koi nahi samajh sakta kitni gahri baat ko shabdo me dhala hai prasoon ji ne


His workout are awesum & fabtastic... agree


_________________________

Sponsored content

Re: A poem by prasoon joshi

Post by Sponsored content


    Current date/time is Mon Aug 21, 2017 12:45 am